Bihar Assembly Election 2020: Nitishs rallies, neither Coronas discussion, nor anyone cares about this Pandemic – बिहार चुनाव: नीतीश की रैलियां, न तो कोरोना की चर्चा, न ही किसी को इस महामारी की फिक्र

0
99


2020 Bihar Assembly Election: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सासाराम में चुनावी जनसभा को संबोधित किया (फाइल फोटो).

सासाराम:

Bihar Election 2020: बिहार के सासाराम (Sasaram) में शनिवार को नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने तीन रैलियां कीं. इन रैलियों में उन्होंने लालू यादव (Lalu Yadav) पर परिवारवाद का आरोप लगाया. दूसरी तरफ बिहार में कोरोना वायरस (Coronavirus) से एक हजार लोगों की मौत के बावजूद अब रैलियों में न तो कोरोना की कोई गाइड लाइन फॉलो होती दिख रही है, न ही कोरोना अब बिहार की राजनीति में कोई मुद्दा है. बिहार के करहगल में नीतीश कुमार का हेलीकॉप्टर देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी. बिहार में चौथी बार जीत के लिए नीतीश कुमार खुद मास्क पहनकर ऐसी रैलियां ताबड़तोड़ कर रहे हैं. लेकिन उनकी रैलियों में सोशल डिस्टेसिंग मजाक बन चुका है और मास्क बांटना अब महज औपचारिकता है. हजारों की भीड़ में तापमान नापना गैरजरूरी हो चुका है. खुद नीतीश कुमार ने अपने 25 मिनट के छोटे भाषण में कोरोना का महज 20 सेकेंड तक ही जिक्र किया.

यह भी पढ़ें

नीतीश कुमार ने कोरोना महामारी को लेकर बस इतना ही कहा कि ”बिहार में कोरोना काल में चुनाव हो रहा है. समय निश्चित है, इसलिए ज्यादा नहीं बोल पा रहा. हर जगह नहीं जा पा रहा हूं.” कोरोना संक्रमण के मद्देनजर न नेता हिदायत देते नजर आ रहे हैं, न प्रशासन रोक रहा है और न ही लोग कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक हैं लिहाजा सब चल रहा है…किसी को कोई फिक्र नहीं है.

सासाराम में JDU की सियासी लड़ाई BJP के बागियों की वजह से मुश्किल हो गई है. इसी के चलते नीतीश उन पर चुटकी लेते हुए कहते हैं कि जिनको सम्मान दिया वो दूसरों की गोद में बैठ गए. नीतीश ने कहा कि ”आप लोग नहीं जानते हैं जी, मंत्री बनाया अपनी सरकार में अब वहीं उम्मीदवार खड़ा करवा रहे हैं. यहां होशियार रहिएगा.”

जेपी नड्डा ने ससाराम में की गुप्त बैठक, दो दिन के भीतर JDU और BJP के बीच समन्वय बनाने का दिया निर्देश

कड़ी धूप और तेज गर्मी में तीन घंटे चली इस रैली में नीतीश कुमार के विकास की, लालू के परिवारवाद की और बिहार की बोली की चर्चा हुई. नीतीश कुमार रैली करके हेलीकॉप्टर से उड़ गए हैं लेकिन सभा स्थल से कुछ दूर चाय और पकौड़े की दुकान पर मुद्दा बना हुआ है. बिहार की इस सियासी लड़ाई में नीतीश कुमार के पास खोने को बहुत है और विपक्षी पार्टियों के पास पाने को. यही वजह है कि चुनाव प्रचार में भी बीजेपी और JDU के डबल इंजन का संसाधन नजर आ रहा है.

VIDEO: नीतीश का लालू और राबड़ी के शासन काल पर निशाना



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here