COVID-19 मरीज़ों के इलाज के लिए रेमडेसिवीर के इस्तेमाल के खिलाफ WHO ने दी ये सलाह

0
111


कई देशों ने रेमडेसिवीर के अस्थाई इस्तेमाल को दे रखी है अनुमति (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पेरिस:

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच दुनियाभर के कई देश COVID-19 वैक्सीन विकसित करने में लगे हैं. कई टीके ट्रायल के अंतिम दौर में हैं. इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एंटी-वायरल दवा रेमडेसिवीर (Remdesivir) को लेकर चेताया है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि कोरोना मरीजों के उपचार के लिए रेमडेसिवीर का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए, इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि मरीज़ कितना बीमार है क्योंकि इसका जीवित रहने के अवसर पर “कोई महत्वपूर्ण प्रभाव” नहीं पड़ता है. 

यह भी पढ़ें

डब्ल्यूएचओ गाइडलाइन डेवलपमेंट ग्रुप (GDG) के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों ने कहा कि वर्तमान में मौजूद डेटा से इस बात कोई सबूत नहीं मिलता है कि रेमडेसिवीर मरीज़ के अहम परिणामों में सुधार करता है.

हालांकि, अमेरिका, यूरोपीय संघ और अन्य देशों ने रेमडेसिवीर के अस्थायी उपयोग को मंजूरी दी हुई है. शुरुआती रिसर्च में कुछ मरीजों में रिकवरी टाइम को कम करने में मददगार होने की बात सामने आने के बाद रेमडेसिवीर को लेकर यह कदम उठाया गया था. 

अक्टूबर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें रेमडेसिवीर समेत अन्य दवाएं दी गई थीं. 

डब्ल्यूएचओ की यह सिफारिश चार अंतरराष्ट्रीय रेंडम ट्रायल पर आधारित है, जो कि अस्पताल में भर्ती 7000 से अधिक कोरोना मरीज़ों पर की गई. बीएमजे मेडिकल जर्नल में प्रकाशित अपडेटेड ट्रीटमेंट गाइडेंस में पैनल ने कहा कि उनकी सिफारिश का मतलब यह नहीं है कि रेमडेसिवीर का मरीज़ों के लिए कोई लाभ नहीं है.

हालांकि, ताजा आंकड़ों, लागत और डिलिवरी के तरीकों के आधार पर “अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीज़ के लिए रेमडेसिवीर के इस्तेमाल की सलाह नहीं दी जाती है, चाहे रोगी कितना भी गंभीर क्यों न हो.” 

वीडियो: महाराष्ट्र में फिर जीवन रक्षक दवा रेमडेसिवीर की क़िल्लत

Newsbeep



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here